Header 300×250 Mobile

STET परीक्षा में अभिनेत्री अनुपमा परमेश्वरन ने किया क्वालिफाई!, विपक्ष ने कहा-धांधली हुई

STET-2019 के रिजल्ट को लेकर नहीं थम रहा विवाद, अब मामले ने लिया सियासी रूप

- Sponsored -

684

- Sponsored -

- sponsored -

शिक्षक अभ्यर्थियों के बाद अब मुख्य विपक्ष राजद ने भी बनाया मुद्दा

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने टॉपर घोटाले का लगाया आरोप

पटना (voice4bihar news)। बिहार के राजकीय विद्यालयों, प्रोजेक्ट कन्या उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों तथा उच्च माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षक बहाली की प्रक्रिया को लेकर शुरु हुआ विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। इस बार एक मार्क्स शीट पर अभिनेत्री अनुपमा परमेश्वरन की तस्वीर को लेकर सवाल उठाये गए हैं।  पिछले दिनों जारी STET-2019 के रिजल्ट की दूसरी किस्त के बाद से ही शिक्षक अभ्यर्थियों ने कई तरह के सवाल खड़े कर शिक्षा विभाग के खिलाफ गुस्सा निकाला। लेकिन अब तक शिक्षक अभ्यर्थियों की ओर से विपक्ष भी सरकार पर हमलावर हो गया है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसे टॉपर घोटाला बताते हुए सरकार की मंशा पर सवाल उठाये हैं।

तेजस्वी ने कहा- मलयालम अभिनेत्री अनुपमा परमेश्वरन को पास करवा दी STET परीक्षा

विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राजद नेत्री रितू जायसवाल के एक ट्वीट को रीट्वीट करते हुए दावा किया है कि सनी लियोनी को बिहार की जूनियर इंजीनियर परीक्षा में टॉप कराने के बाद अब मलयालम अभिनेत्री अनुपमा परमेश्वरन को #STET परीक्षा पास करवा दी है।

इससे पहले रितू जायसवाल ने एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा है ” नीतीश जी हर परीक्षा-बहाली में धाँधली करा करोड़ों युवाओं का जीवन बर्बाद कर रहे है। एक बहाली पूरा करने में एक दशक लगाते है वह भी धाँधली के साथ।….प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय में शिक्षा ग्रहण करने देश विदेश से लोग आते थे। अब बिहार में नौकरी पाने की लिस्ट में आ गई हैं नामचीन मलयालम अभिनेत्री।”

विज्ञापन

इसे भी पढ़ें : STET अभ्यर्थी को महंगा पड़ा बिहार बोर्ड से मजाक, मिली हुई नौकरी से धोना पड़ेगा हाथ

पहले पेपर में Qualified but not in merit list, दूसरे पेपर में Qualified

दरअसल तेजस्वी का यह आरोप निरर्थक नहीं है। इसमें जिस एप्लीकेशन नंबर व डेट ऑफ बर्थ का जिक्र करते हुए धांधली का दावा किया गया है, वह प्रथम दृष्टया सही नजर आता है। अभ्यर्थी रिषिकेश कुमार, पिता रिपुसुदन प्रसाद के दोनों पेपर के मार्क्सशीट में एक महिला की तस्वीर लगी है। फर्स्ट पेपर में जहां करीब 77 प्रतिशत अंक लाने वाले इस अभ्यर्थी को Qualified but not in merit list बताया गया है। वहीं सेकेंड पेपर में 95 प्रतिशत से अधिक अंकों के साथ Qualified करार दिया गया है।

विवादों के घेरे में मार्क्स शीट।

यानि इस अभ्यर्थी को हाईयर कक्षाओं में शिक्षक बनने का मौका मिला है। बीसी कैटेगरी में रिषिकेश कुमार की रैंकिंग 58 बताई गयी है। इस अभ्यर्थी का लिंग पुरुष दर्ज है लेकिन तस्वीर एक अभिनेत्री की है। गूगल लेंस की मदद से खोज करने पर यह तस्वीर मलयालम अभिनेत्री अनुपमा परमेश्वरन की है।

तकनीकी गड़बड़ी से इनकार नहीं, लेकिन मामला गंभीर

अब सवाल उठता है कि अक्सर परीक्षाओं के एडमिट कार्ड पर इस तरह की गड़बड़ी देखने को मिलती है, लेकिन रिजल्ट के वक्त ऐसी भूल की गुंजाइश कम ही रहती है। बिहार में इस तरह के कई मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड पर गलत तस्वीर लग जाती है। यह तकनीकी भूल भी हो सकती है, लेकिन इससे मामले की गंभीरता कम नहीं हो जाती।

यह भी देखें : STET-2019 : हजारों छात्रों का भविष्य ‘Qualified But Not In Merit List’ के फेर में फंसा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored