Header 300×250 Mobile

जहरीली शराब से 16 की मौत पर एक्शन शुरू, थानेदार समेत लौरिया थाने के सभी कर्मियों पर गिरी गाज

प्रभारी थानाध्यक्ष व तीन चौकीदार सस्पेंड, थाने के सभी जवान व अफसर लाइन हाजिर

- Sponsored -

417

- Sponsored -

- sponsored -

जहरीली शराब कांड : थानेदार से चौकीदार तक नप गए, 16 अभियुक्तों को भी किया गिरफ्तार

बेतिया (voice4bihar news)। बिहार के पश्चिमी चंपारण जिले के लौरिया में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत के बाद अब प्रशासन एक्शन मोड में आ गया है। जहरीली शराब कांड में कार्रवाई की जद में थानेदार समेत पूरे थाने पर गाज गिर गयी है। लौरिया के प्रभारी थानाध्यक्ष केपी यादव समेत तीन चौकीदारों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के साथ ही थाने में पदस्थापित सभी पुलिस पदाधिकारियों व पुलिस जवानों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इतना ही नहीं मामले की जानकारी होने के बावजूद अवकाश पर रहने वाले थानेदार राजीव कुमार रजक को भी पुलिस केंद्र में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया गया है।

मद्यनिषेध अधीक्षक एवं मद्यनिषेध निरीक्षक को थमाया गया शो कॉज

प्रभारी एसपी किरण गोरख जाधव ने बताया कि अब तक इस मामले में 16 लोगों को गिरफ्तार किया गया है , जबकि इस कांड के मुख्य अभियुक्तों समेत अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। गिरफ्तार अभियुक्तों के विरुद्ध सबूत एकत्र करने के साथ ही उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजने की प्रक्रिया जारी है। दूसरी ओर जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने बताया कि इस मामले में शिथिलता व लापरवाही बरतने के कारण बगहा अनुमंडल के मद्यनिषेध अधीक्षक एवं मद्यनिषेध निरीक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

अब तक 12 लोगों की जहरीली शराब से मौत की पुष्टि

जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने बताया कि लौरिया में संदिग्ध मृत्यु के मामले की जांच के लिए बनी टीम शनिवार को भी मृतकों के घर जाकर परिजनों के लिखित बयान दर्ज किये। अब तक 12 व्यक्तियों के परिजनों ने लिखित बयान देकर जहरीली शराब पीने की पुष्टि की है एवं अचानक तबियत बिगड़ जाने से मौत की बात बतायी है। इनमें लतीफ साह (65) , विकाउ मियां (45), सुरेश साह (40), वशिष्ठ सोनी (35), नईम मिस्त्री (60), हीरालाल डोम (45) , गुड्डू मियां (35), ताज महम्मद (60), जवाहिर मियां (50), जुलफान मियां (45), इजहारूल अंसारी (65) व झुन्ना मियां (30) के नाम शामिल हैं।

शराब से हो रही मौतों पर गांव में छाया मातम।

विज्ञापन

कई मृतकों के परिजनों ने बीमारी से मौत होने की बात कही

दूसरी ओर कई ऐसे मृतकों के परिजन भी जांच टीम के सामने आए जिन्होंने बीमारी के कारण मौत होने की बात कबूल की है । बगही के रतुल मियां एवं देउरवा के भगवान पंडा के परिजनों ने मेडिकल रिपोर्ट देकर बीमारी से मौत की बात कही है। इसी प्रकार देउरवा के रामवृक्ष चौधरी, व अमीरउल साह के परिजनों ने भी बीमारी से मौत होने की बात कही।

अब तक 16 लोगों की मौत, दो की हालत चिंताजनक

गौरतलब है कि पश्चिमी चम्पारण जिला अंतर्गत लौरिया थाना की देउरवा पंचायत में बीते 3 दिनों में जहरीली शराब पीने से अब तक 16 लोगों के मौत की बात सामने आ रही है। शनिवार की शाम तक दो लोगों की हालत गंभीर बनी हुई थी। इसके अलावा मामला सुर्खियों में आने से पहले ही कम से कम चार मृतकों का दाह संस्कार हो चुका था। इनके परिजन अब तक पुलिस से बच रहे हैं और कोई बयान नहीं दिया है। बताया जाता है कि देवराज स्थित देउरवा गांव में मंगलवार को एक अवैध देशी शराब के अड्डे पर शराब पीने के बाद ये सभी मौतें हुई हैं।

शराब से तबीयत बिगड़ने का मामला दिखे तो तत्काल सूचना दें : डीएम

जहरीली शराब कांड में जहां कई बीमार लोगों के छुप -छुपाकर इलाज कराने की बात सामने आ रही है, वहीं डीएम ने ऐसे मामलों को सामने लाने की अपील की है। जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन के अलावा सभी सरकारी व प्राइवेट स्वास्थ्य केंद्रों को निर्देश दिया है कि किसी भी मरीज में यदि शराब के सेवन से संबंधित लक्षण मिले तो तत्काल इसकी सूचना पुलिस एवं कार्यकारी विभाग को दें।

शराब कांड के दोषियों को अंजाम तक पहुंचाने का वादा

जिलाधिकारी ने कहा कि इस त्रासदी के लिए जो लोग भी दोषी होंगे, उन्हें किसी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। प्रशासन व पुलिस पूरे हालात पर नजर रखे हुए है। हर तरह के साक्ष्य जुटाये जा रहे हैं ताकि दोषियों को सजा दिलायी जा सके । इसके साथ ही डीएम एससपी ने लोगों से अपील की है कि नशा एक सामाजिक बुराई है , इसके गंभीर परिणाम होते हैं। सभी लोग सामाजिक जागरूकता लायें , खुद एवं परिवार, समाज के लोगों को नशा का पान नहीं करने को जागरूक एवं प्रेरित करें।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored