Header 300×250 Mobile

कुख्यात सिप्पू पटेल हत्याकांड में नाबालिग अभियुक्त ने किया सरेंडर, छोटी उम्र में बड़ी वारदात में हुआ शामिल

हत्याकांड के वक्त महज 15 वर्ष का था अंकित पटेल, साढ़े 16 वर्ष की उम्र में किया सरेंडर

- Sponsored -

811

- sponsored -

- Sponsored -

08 जून 2020 को हुई थी सिप्पू पटेल की हत्या, पुलिस जांच के बाद तीन अभियुक्त चार्जशीटेड

हत्याकांड के एक अभियुक्त जगरनाथ भगत को पिछले 27 जुलाई को किया गया था गिरफ्तार

अभिषेक कुमार के साथ बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। रोहतास जिले के कुख्यात अपराधियों की लिस्ट में शामिल सिप्पू पटेल की हत्या का केस जितना सनसनीखेज रहा, उसके आरोपी का सरेंडर भी उतना ही हैरान करने वाला है। इस केस में एक नाबालिग आरोपी ने न्यायालय में सरेंडर कर दिया है। रोहतास पुलिस कप्तान आशीष भारती द्वारा मीडिया को दी गई जानकारी के मुताबिक 17 अगस्त को सिप्पू पटेल मर्डर केस के आरोपी करगहर के कुसहीं गांव निवासी अंजनी राय के पुत्र अंकित कुमार राय उर्फ अंकित पटेल ने आत्मसमर्पण किया है ।

बोलेरो का टायर बदलते वक्त सिप्पू को अपराधियों ने मारी थी गोली

मुफस्सिल थाने में दर्ज प्राथमिकी संख्या 176 / 20 के सूचक आलोक कुमार के मुताबिक 8 जून 2020 को आलोक कुमार अपनी पत्नी व बच्ची के साथ इलाज के लिए बोलेरो से सासाराम जा रहा था। बोलेरो की ड्राइविंग सीट पर आलोक कुमार का छोटा भाई सिप्पू पटेल था। रास्ते में अचानक बोलेरो के नीचे खट-खट की आवाज होने लगी।

विज्ञापन

ऐसी स्थिति में सासाराम-करगहर रोड में चौखंडा चितौली स्कूल के 50 मीटर उत्तर सिप्पू ने गाड़ी रोक दी। नीचे उतर कर सिप्पू ने बोलेरो का टायर बदलने का प्रयास किया, इसकी दौरान अपराधियों ने सिप्पू पटेल को पीछे से कमर में गोली मार दी। गोली लगने से सिप्पू पटेल की मौत हो गई थी। घटना के बाद अज्ञात लोगों के विरुद्ध आईपीसी की धारा 302 एवं 27 आर्म्स एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज करते हुए मुफस्सिल पुलिस ने अनुसंधान शुरू किया था।

सिप्पू हत्याकांड में अवधेश, विजय और सोनू हुए चार्जशीटेड

पुलिस जांच के उपरांत अवधेश कुमार सिंह, अंशु कुमार, सोनू कुमार उर्फ सोनू पटेल, विजय सिंह, अंकित पटेल, जगरनाथ भगत उर्फ तिवारी, मंटू यादव, दिलीप कुमार, हरेराम सिंह, बिशुन सिंह, प्रेम पटेल व अनुज सिंह इस हत्याकांड की जद में आए। मामले की जांच जारी रखते हुए पुलिस ने कई खुलासे किये और लगातार गिरफ्तारी जारी रखी। लंबी पड़ताल के बाद अप्राथमिकी अभियुक्त सोनू कुमार उर्फ सोनू पटेल व अवधेश सिंह के विरुद्ध 31 अक्टूबर 2020 को आरोप पत्र संख्या 241/20 पुलिस ने समर्पित किया।

बाद में विजय सिंह के विरुद्ध 24 जनवरी 2021को पूरक आरोप पत्र संख्या 14/ 21 समर्पित किया गया। अन्य अभियुक्तों के विरुद्ध पुलिस ने लगातार छापेमारी की प्रक्रिया जारी रखी। इस मामले में जगरनाथ भगत उर्फ तिवारी को पिछले 27 जुलाई को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जगरनाथ भगत के विरुद्ध कोचस और करगहर थाने में शराब तस्करी के कई मामले दर्ज हैं।

नाबालिग है अंकित पटेल, पिता ने पेश किया शैक्षणिक प्रमाण पत्र

चौंकाने वाला तथ्य है कि कुख्यात सिप्पू पटेल मर्डर केस में पिछले 17 अगस्त को न्यायालय में सरेंडर करने वाला शख्स नाबालिग है। करगहर के कुसहीं गांव निवासी अंजनी राय का पुत्र अंकित कुमार राय उर्फ अंकित पटेल अभी सिर्फ 16 वर्ष का है। वर्ष 2020 में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सासाराम के समक्ष अंकित पटेल उर्फ अंकित राय के पिता अंजलि राय द्वारा दिए गए आवेदन के मुताबिक अंकित राय उर्फ अंकित पटेल की शैक्षणिक प्रमाण पत्रों में जन्म तिथि 14 फरवरी 2005 है। यानि हत्या के वक्त उसकी आयु महज 15 वर्ष थी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT