Header 300×250 Mobile

65वीं बीपीएससी की मुख्य लिखित परीक्षा के रिजल्ट जारी

423 पदों पर नियुक्ति के लिए 1142 उम्मीदवारों का होगा साक्षात्कार

- Sponsored -

599

- sponsored -

- Sponsored -

बिहार प्रशासनिक और बिहार पुलिस सेवा समेत राज्य स्तर की विभिन्न पदों पर होगी बहाली

पटना (voice4bihar desk)। 65वीं संयुक्त मुख्य ( लिखित ) प्रतियोगिता परीक्षा का रिजल्ट बीपीएससी ने बुधवार को जारी कर दिया। बिहार प्रशासनिक और बिहार पुलिस सेवा समेत राज्य स्तर की विभिन्न 423 पदों पर बहाली के लिए हुई इस परीक्षा में साक्षात्कार के लिए कुल 1142 उम्मीदवार पास घोषित किये गये हैं। 65 वीं संयुक्त मुख्य ( लिखित ) प्रतियोगिता परीक्षा पिछले साल 25, 26 और 28 नवंबर को राजधानी पटना के विभन्न केन्द्रों में आयोजित की गई थी । परीक्षा में सफल सभी 1142 अभ्यर्थियों को जुलाई 2021 के अंतिम हफ्ते में साक्षात्कार के लिए बुलाये जाने की संभावना है।

बीपीएससी जल्द ही विस्तृत साक्षात्कार कार्यक्रम जारी करेगा। 65वीं संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा के अन्तर्गत प्रारम्भिक परीक्षा हेतु प्रकाशित विज्ञापन में गृह विभाग ( आरक्षी शाखा ) के अधीन पुलिस उपाधीक्षक के पदों पर नियुक्ति के लिए कुल 62 रिक्तियों में से दो रिक्तियाँ दिव्यांग उम्मीदवारों ( VI – 01, DD – 01 ) को अनुमान्य की गयी थीं। बिहार पुलिस सेवा के मूल कोटि के पद ( आरक्षी उपाधीक्षक), जिस पर मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ अभ्यर्थियों की नियुक्ति किए जाने का प्रावधान है, को दिव्यांगता आरक्षण से स्थायी रूप से विमुक्त कर दिया गया है।

साक्षात्कार के लिए करीब तीन गुना अधिक उम्मीदवार बुलाये गये

मुख्य ( लिखित ) प्रतियोगिता परीक्षा में सफल कुल 1142 उम्मीदवारों में अनारक्षित ( 01 ) कोटि की 186 रिक्तियों के विरूद्ध 516 , आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग ( 07) कोटि की 41 रिक्तियों के विरुद्ध 111 , अनुसूचित जाति ( 02 ) कोटि की 53 रिक्तियों के विरूद्ध 137 , अनुसूचित जनजाति ( 03 ) कोटि की 06 रिक्तियों के विरूद्ध 15. अत्यंत पिछड़ा वर्ग ( 04 ) कोटि की 68 रिक्तियों के विरूद्ध 185 , पिछड़ा वर्ग ( o5 ) कोटि की 59 रिक्तियों के विरूद्ध 153 एवं पिछड़े वर्ग की महिला ( 06 ) कोटि की 10 रिक्तियों के विरूद्ध 25 उम्मीदवार सफल घोषित किये गये हैं ।

विज्ञापन

महिलाओं को मिलेगा क्षैतिज आरक्षण का लाभ

रिजल्ट में आरक्षण कोटिवार उपलब्ध रिक्तियों के अनुसार महिलाओं को क्षैतिज आरक्षण का लाभ दिया गया है । उपर्युक्त कुल सफल घोषित 1142 उम्मीदवारों में दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए अनुमान्य 14 रिक्तियों के विरूद्ध सफल घोषित कुल 35 उम्मीदवार एवं बिहार राज्य के भूतपूर्व स्वतंत्रता सेनानियों के नाती / नतिनी / पोता / पोती के लिए अनुमान्य 06 रिक्तियों के विरूद्ध सफल घोषित कुल 15 उम्मीदवार शामिल हैं ।

साक्षात्कार के समय सभी मूल प्रमाणपत्रों का कराना होगा सत्यापन

शैक्षिक योग्यता सम्बन्धी मूल प्रमाण पत्र , आरक्षण का दावा करने वाले उम्मीदवारों को उनकी मौखिक परीक्षा / साक्षात्कार की तिथि को ही सक्षम प्राधिकार द्वारा निर्गत सम्बन्धित मूल प्रमाण पत्र एवं आरक्षित वर्गों की महिला उम्मीदवारों को पिता के नाम से बना मूल जाति प्रमाण पत्र / क्रीमीलेयर रहित प्रमाण पत्र अनिवार्य रूप से प्रस्तुत कर सत्यापन कराना होगा । उक्त मूल प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए उन्हें कोई अतिरिक्त समय नहीं दिया जायेगा एवं उक्त प्रमाण पत्रों की अनुपलब्धता की स्थिति में आयोग वैसे.उम्मीदवारों की पात्रता के सम्बन्ध में यथासमय समुचित निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र रहेगा।

इस परीक्षा के जरिये बिहार प्रशासनिक सेवा के 30, बिहार पुलिस सेवा के 62, जिला समादेष्टा के 06, अवर निबंधक और संयुक्त अवर निबंधक के 05, अवर निर्वाचन पदाधिकारी के 46, नियोजन पदाधिकारी व जिला नियोजन पदाधिकारी के 09, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी के 01, बिहार शिक्षा सेवा के 72, ग्रामीण विकास पदाधिकारी के 110, नगर कार्यपालक पदाधिकारी के 11, आपूर्ति निरीक्षक के 19, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी के 14, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी के 20 और प्रखंड अनुसूचित जाति जन जाति कल्याण पदाधिकारी के 18 पदों पर बहाली की जानी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT