Header 300×250 Mobile

20 अप्रैल से शुरू हो सकती है गेहूं की सरकारी खरीद

1975 रुपए न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित, 15 जुलाई तक होगी गेहूं की खरीद

- Sponsored -

521

- sponsored -

- Sponsored -

पटना/सासाराम (voice4bihar desk)। गेहूं की फसल की कटनी अंतिम दौर में है। कटनी के बाद किसान गेहूं बिक्री की तैयारी में हैं। उधर सरकार के स्तर से भी गेहूं खरीदारी को लेकर तैयारी कर ली गई है । गेहूं की खरीदारी के लिए सरकार ने 20 अप्रैल से 15 जुलाई तक की तिथि निर्धारित कर दी है । गेहूं खरीद के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य 1975 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है ।

जानकारी के अनुसार रबी विपणन मौसम 2021-22 में किसानों से गेहूं की अधिक से अधिक खरीदारी करने के लिए पंचायत स्तर पर पैक्सों व प्रखंड स्तर पर व्यापार मंडल पर क्रय केंद्रों की स्थापना की जा रही है । इस संबंध में सासाराम के जिला सहकारिता पदाधिकारी समरेश कुमार ने बताया कि जिले में क्रय केंद्रों पर निर्धारित तिथि से गेहूं की खरीदारी किए जाने की व्यवस्था करने का प्रयास किया जा रहा है।

विज्ञापन

पैक्स समितियों से गेहूं खरीद के संबंध में प्रस्ताव मांगा गया है। प्रस्ताव के अनुरूप पैक्स समितियों का चयन कर उन्हें गेहूं खरीदारी के लिए अधिकृत किया जाएगा। पैक्सों व व्यापार मंडलों द्वारा जिले में बनाए जाने वाले क्रय केंद्रों के माध्यम से जिले के किसानों के उत्पादित गेहूं की खरीदारी सरकार द्वारा निर्धारित किए गए न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी। सरकार की मंशा के अनुरूप किसानों का अधिक से अधिक गेहूं खरीदा जाएगा । जो किसान क्रय केंद्रों पर अपना गेहूं बेचना चाहेंगे उनके गेहूं की खरीदारी की जाएगी।

उन्होंने बताया कि जिले के अधिकांश पैक्सों के गोदाम पूरी तरह से धान से भरे हुए हैं। उनके खाली होने पर ही पैक्सों द्वारा गेहूं की खरीदारी प्रारंभ की जाएगी। कृषि विभाग के द्वारा फसल उत्पादन की पंचायत वार सूची मांगी गई है।

हालांकि इससे सरकार द्वारा निर्धारित की गई 29 अप्रैल की तिथि से जिले में किसानों के गेहूं की खरीदारी होने पर संशय है। इस वर्ष भी कहीं कागजों में सिमट ना जाए गेहूं की खरीद। सहकारिता विभाग की जानकारों की माने तो विभाग में प्रतिवर्ष गेहूं की खरीदारी के लिए तैयारियां की जाती है । सरकार के द्वारा जिले का लक्ष्य निर्धारित किया जाता है। लेकिन करीब 10 सालों का आंकड़ा देखा जाए तो जिले में दो ही पैक्स अब तक गेहूं की खरीदारी कर सकें जिसमें शिवसागर व्यापार मंडल व कोचस प्रखंड के अकोड़ा पैक्स शामिल है। रबी विपणन 2020-21 में भी जिले का 57000 एमटी गेहू खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया था लेकिन जिले के एक भी पैक्स खरीद नहीं कर सके थे । कहीं इस बार भी वैसा ही हाल गेहं खरीद में जिले की नहीं हो जाए यह चिंता किसानों को सताने लगी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored