Header 300×250 Mobile

भारत के रास्ते नेपाल में घुसे 11 अफगानी नागरिक गिरफ्तार

भारत का फर्जी आधार कार्ड बनाकर नेपाल की राजधानी में ली थी पनाह

- Sponsored -

472

- sponsored -

- Sponsored -

नेपाल की केंद्रीय जांच एजेंसी ने काठमांडू के एक होटल से किया गिरफ्तार

6 संदिग्धों के पास मिले भारत में बने आधार कार्ड , जांच में पाये गए फर्जी

जोगबनी से राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

Voice4bihar news. भारत के निकटतम पड़ोसी देश नेपाल में 11 अफगानी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है । रविवार को नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित एक होटल में ठहरे 11 अफगानियों को नेपाल केंद्रीय अनुसंधान ब्यूरो की टीम ने गिरफ्तार किया है। नेपाल सीबीआई के अधिकारियों के दावे को मानें तो इन अफगानियों की गतिविधि भी संदेह के घेरे में है। इनमें से कई के पास भारत में बने फर्जी आधार कार्ड भी हैं।

नेपाल केंद्रीय अनुसंधान ब्यूरो के अधिकारियों का दावा है कि उक्त 11 संदिग्ध अफगानी नागरिकों ने भारत के रास्ते सुनोली नाका के रास्ते नेपाल में प्रवेश किया है। ये काठमांडू के एक होटल में पनाह लिये हुए थे । इसकी जानकारी रविवार की सुबह नेपाल सीबीआई की टीम को मिली ब्यूरो की टीम ने त्वरित एक्शन लेते हुए इन सभी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए।

भारत का फर्जी आधार कार्ड दिखाकर नेपाल में घुसे थे अफगानी!

विज्ञापन

हिरासत में लिए गए 11 अफगानिस्तानी नागरिकों में से 6 के पास भारतीय आधार कार्ड होने की बात सीबीआई के डीआईजी धीरजप्रताप सिंह ने कही है। हालांकि जांच में सभी आधार कार्ड फर्जी पाए गए हैं। दूसरी ओर संदिग्ध अफगानियों की गिरफ्तारी के बाद भारत व नेपाल सीमा पर सुरक्षा की खामियां उजागर हैं।

साथ ही नेपाल सरकार के गृह मंत्रालय की ओर से पिछले दिनों जताए गए अंदेशा को भी बल मिलता है , जिसमें कहा गया था कि अफगान में अस्थिरता के बाद तालिबानी आतंकी सीमाओं को लांघने की फिराक में हैं। आशंका है कि नेपाल में शरणार्थी के रूप में आ कर पड़ोसी देशों में अवैध गतिविधियों को अंजाम दे सकते हैं।

पूछताछ के लिए तलब किये गए शरणार्थी आयोग के उच्चायुक्त

अफगानी नागरिकों के नेपाल में प्रवेश की सूचना मिलने के बाद नेपाल सरकार के गृह मंत्रालय ने भारत से लगी नेपाल की सीमा पर उच्च सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। साथ ही नेपाल स्थित शरणार्थी सम्बन्धी उच्च आयोग कार्यालय के प्रमुख को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। सुरक्षा सूत्रों की मानें तो नेपाल अपराध अनुसंधान महाशाखा को आशंका है कि गुपचुप तरीके से कहीं अन्य अफगानस्तानी नागरिकों को भी अस्थायी रूप से पनाह देकर रखा गया है।

दूसरी नेपाल सीबीआई के डीआईजी ने मीडिया को बताया कि मामला काफी संवेदनशील होने के कारण लगातार पूछताछ हो रही है इन्क्वायरी के बाद ही पूरी जानकारी दी जाएगी। बहरहाल मामला जो भी हो , पिछले दिनों पाकिस्तानी आतंकी के पास बरामद आधार कार्ड का किशनगंज कनेक्शन सामने आने के बाद इस ताजे घटना ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है।

संबंधित खबर : नेपाल में तालिबानी आतंकियों की घुसपैठ पर नेपाल सरकार अलर्ट,

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored