Header 300×250 Mobile

सुशील मोदी ने तेजस्वी की बहनों का लिया नाम तो भिड़ गयीं रोहिणी

भाजपा सांसद को रोहिणी की चेतावनी, आज के बाद मेरी बहनों का नाम लिया तो मुंह थूर देंगे

- Sponsored -

637

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (Voice4bihar desk)। भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी ने जब नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की बहनों को लेकर व्यंग्य किया तो तेजस्वी की सबसे छोटी बहन रोहिणी आचार्या सीघे सुशील मोदी से भिड़ गयीं। रोहिणी ने सुशील मोदी को साफ-साफ चेतावनी देते हुए कहा कि खबरदार आज के बाद तू या तेरे भोपू मेरे या मेरी बहनों के बारे में बोले ना तो समझ लेना। जा कर अपनी so called प्रोफेसर बीवी (पता है कैसे बनी ) से पूछ लेना, बेटियों से कैसे बात की जाती है।

रोहिणी इतने पर नहीं रुकी इससे आगे उन्होंने कहा कि सुशील मोदी थेथर है सुधरेगा नहीं जब तक बिहार की बेटियों से थुरायगा नहीं। इससे भी रोहिणी का गुस्सा शांत नहीं हुआ कहा कि आज के बाद से मेरा या मेरी बहनों का नाम लिया ना ये लीचर सुशील मोदी तो मुँह थूर देंगे आ कर। भाग यहां से राजस्थानी मेढक।

असल में विवाद शुरू हुआ तेजस्वी यादव के अपने आवास पर कोविड केयर सेंटर शुरू करने के बाद। तेजस्वी ने रविवार को दिन में वीडियो जारी कर बताया कि उन्होंने राजधानी पटना में उनके लिए अवंटित सरकारी बंगला 1 पोलो रोड को कोविड केयर सेटर के रूप में सुसज्जित कर दिया है। इसमें कोरोना पीडि़तों के रहने के लिए बिस्तर, दवा और आक्सीजन के साथ परिजनों के ठहरने और खाने का भी इंतजाम किया गया है। उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को बजाप्ता एक चिट्‌ठी लिखकर इसकी जानकारी दी और इसे कोविड मरीजों के उपयोग में लाने का अनुरोध किया।

इसके करीब घंटे भर बाद कुमार दिवाशंकर नामक एक ट्वीटर यूजर ने लिखा कि तेजस्वी यादव जी के बंगले में लगे AC को देख छाती पीट-पीट कर चिल्लाने वाले सुशील मोदी बंगले को हाई टेक कोविड केयर सेंटर बनाए जाने पर मौन हैं। इसका जवाब देते हुए रोहिणी आचार्या ने लिखा कि अभी ट्वीटर मियां को सांप सूंघ गया है। लगा हुआ है भौंकने वाले कुत्ते के गैंग को आगे करने में।

इसका जवाब देने जब सुशील मोदी मैदान में उतरे तो वे बात को तेजस्वी की बहनों तक ले गये। मोदी ने लिखा तेजस्वी यादव के परिवार में दो बहनें एमबीबीएस डॉक्टर हैं। कोरोना संक्रमण के दौर में उनकी सेवाएं क्यों नहीं ली गईं? यदि राजद नेतृत्व में गरीबों की सेवा के लिए तत्परता और गंभीरता होती, तो अस्पताल शुरू करने के लिए पहले सरकार से अनुमति ली जाती और उसके मानकों का पालन किया जाता। बिना डॉक्टर, उपकरण-स्वास्थ्यकर्मी के किसी परिसर में केवल कुछ बेड लगा देने से अस्पताल नहीं हो जाता। इससे केवल अस्पताल होने का नाटक किया जा सकता है।

सुशील मोदी के इस ट्वीट को पढ़ते ही रोहिणी आचार्या आग बबूला हो गयीं। वे सुशील मोदी की बहन और भाई सहित मुख्यमंत्री को भी मैदान में घसीट लायीं। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी बीच में कूदे तो रोहिणी ने उन्हें भी पानी-पानी कर दिया।

एक ट्वीटर यूजर जीशान अली ने ट्वीट किया तेजस्वी यादव की बहनें इलाज करेंगी और इनकी (सुशील मोदी की) बहन पटना में घूम-घूम कर छोटे दुकानदारों से चावल लूटेंगीं और दांत काटेंगीं, उसके बाद ये (सुशील मोदी) हाफ पैंट पहन कर निकल लेंगे, ऐसा ही ना? इसके बाद रोहिणी ने एक-एक कर कई टवीट किये। लिखा पलटू का भी बेटा अर्ध विक्षिप्त। ये दोनों अपने नकारा और नालायक बेटों से परेशान हैं। भाई तेजस्वी को देख-देख कर अपनी फूटी किस्मत को कोस रहे हैं। मन ही मन जल कर खाक हो रहे हैं। ई हाफ़ पैंट मोदी अपनी सृजन चोरनी /कान कटनी / चावल लुटनी बहन के जैसा समझा है तेजस्वी-तेज की बहनों को ? लुच्चा कहीं का, अब हमारे नाम पे राजनीति चमकना चाहता है मुंह डेधवा।

इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने ट्वीट कर कहा, अपने सरकारी आवास को मेडिकल वार्ड में तब्दील करने के लिए नेता प्रतिपक्ष. तेजस्वी यादव जी को धन्यवाद। आग्रह है अब राजनैतिक बातचीत को छोड़ आप वहां चिकित्सकों की भी व्यवस्था सुनिश्चित करें। यदि चिकित्सक ना मिलें तो आप परिवार के PMCH टॉपरों के सहारे भी जन सेवा शुरू कर सकतें हैं। जाहिर है कि इससे रोहिणी का नाराज होना लाजिमी था।

उन्होंने लिखा मांझी जी की यही बीमारी है। गिरगिट की भांति रंग बदलते हैं बड़ी तेजी से भाई, पलटू के इशारे पर। सुबह शाम ये नाच करें, सत्ता की मलाई चाटने की खातिर, दामाद समधिन को भी चटवाने की खातिर, पलटू के पैरों के तलवा चाट रहा है। गिरगिट की भांति ये पल-पल रंग बदल रहा है। पलटू से मिला कमीशन पच नहीं रहा जीतन राम मांझी को। इसलिए कूद-कूद कर टि्वटर मियां की भांति ट्वीट कर रहा है, पलटू का गुणगान करके। ये सिर्फ़ दमाद , बेटा और समधिनि को मलाई वाला पद दिलाने में माहिर है। गिरगिट की तरह रंग बदलने वाला newly recruit गैंग member है ये अभी। विवादों से जिसका चोली दामन का साथ है। कभी दामाद को पीए बनाकर, कभी बार बालाओं के संग रंगरेलियां मनाते हुए इसका नालायक बेटा पकड़ा गया तो कभी कालाधन ले जाते हुए पकड़ा गया।

पलटू का भी बेटा अर्ध विक्षिप्त। ये दोनों अपने नकारा और नालायक बेटों से परेशान है। रोहिणी ने इतने पर ही मांझी को नहीं छोड़ा, पूछ बैठी- कौन सा सेवा करवा रहे हो तुम। पलटू का तलवा चाटने वाले, कुर्सी की खातिर जमीर बेचने वाले, इस आपदा में भी पलटू के गैंग का लीडर बनकर भूक रहा है। सत्ता की मलाई चाटने की खातिर। जनता की जान से खेल रहा है। कुछ तो लाज शर्म कर लो तुम। गरीब-गुरबा.. महादलित के नेता कहलाने वाले। इस विपदा में भी चाटुकारिता में ही लीन हैं। ऑक्सीजन की खातिर जनता तड़प तड़प कर मर रही है। क्या मर गई तेरी आत्मा? या पलटू की तरह अंतरात्मा भी तेरी मर चुकी है।

विज्ञापन

राजद परिवार के लोग जन सेवा कर रहे हैं। गिरगिट सा रंग बदलने वाले जरा ये बता दे हमें तू समधिन दामाद से कौन सा सेवा कर करवा रहे हो तुम। होटल में रंगरेलियां मनाते हुए पकड़े गए। अपने नालायक बेटे से कौन सा सेवा करवा रहे हो तुम पलटू का तलवा चाटने वाले। कमीशन खोरों की ये टोली है नीचे से लेकर ऊपर तक। जनता को ये लूट रहे हैं, भूखे भेड़िए बनकर नोंच रहे हैं। जनता का रक्षक बनकर इन भेड़ियों के बीच जो आता है कमीशन ना मिलने के भय से टूट पड़ते हैं ऐसे जंगली भेड़ियों का झुंड हो जैसे।

इस बीच सुशील मोदी ने एक और ट्वीट किया उन्होंने लिखा तेजस्वी प्रसाद यादव को सरकारी आवास के बजाय अवैध तरीके से पटना में अर्जित दर्जनों मकानों में से किसी को कोविड अस्पताल बनाना चाहिए था, जहां गरीबों का मुफ्त में इलाज होता।

इसका जवाब देते हुए रोहिणी ने लिखा सरकारी अवास इनके पिता की है जो आग लग रही है , कान खोल कर सुन ले ये जनता की दी हुई है जो मेरा भाई जनता के नाम समर्पित कर सेवा करना चाह रहा है। तुम्हारी तरह नहीं कि जनता के पैसे पे अपने ऐश कर रहा है जो कि चोर दरवाज़ा से हर बार हासिल करता है। हिम्मत है तो जनता द्वारा चुन कर आ।

सुशील मोदी ने एक और ट्वीट किया कांति देवी ने मंत्री बनने के बदले जो दो मंजिला भवन तेजस्वी यादव को गिफ्ट किया था, उसमें या राबड़ी देवी के पास जो 10 फ्लैट बचे हैं, उनमें अस्पताल क्यों नहीं खोला गया? इस पर रोहिणी आचार्या ने लिखा अफवाह मियां कब तक अपने कुकर्मों का ठीकरा दूसरे के सर पर फोड़ेगा? खुद 13 साल उपमुख्यमंत्री रहते हुए सृजन चोरी सहित कुल 62 घोटाले के बजाए अपने मनरेगा बेटों को डॉक्टर ही बनवा लेते तो आज जनता की जान बच जाती।

निकम्मे कुछ तो काम किए होते तो हमारे परिवार का नाम लिए बग़ैर कमा कर तो दिखाते। इतना ज्ञान देने से पहले खुद तुम और तुम्हारे भाई ने जो राष्ट्रकवि दिनकर जी की जमीन हड़पी है उसपे क्यों नही कोविड सेंटर खोल दे रहे हो? वैसे आज कल तेरी सृजन चोरनी /चावल चोरनी /कान कटनी बहन कहां है, कहीं चोरी करने की ट्रेनिंग करने के लिए अपने बेटों के साथ तो नहीं लगा दिया।

रोहिणी ने बड़े मोदी को भी लपेटा। बोलीं, सुन ना हाफ़पैंट मोदी, अपने चाय वाले मोदी को चाय बेचवा देते तो आज मेरे भारत को ये दिन ना देखना पड़ता। बोल अपने मोदी को कुर्सी से उतर जाए और फिर से चाय बेचे। फिर उन्होंने सुशील मोदी का नाम लेकर एक और ट्वीट किया, अभी तो भाई तेजस्वी की अंगड़ाई है जनमत चोरों की धड़कन अभी से ही बढ़नी शुरू हो गई है। जब शेर लालू के साथ भाई तेजस्वी आएगा मैदान में सबके छक्के छूट जाएंगे और कमीशन खोरों के सारे नाजायज धंधे पल भर में बंद हो जाएंगे।

तेजस्वी की बहन रोहिणी ने आगे लिखा, कुकुर की पूंछ जैसे टेढ़ी है, सृजन चोरनी के भाई मोदी सोच तेरी वैसे ही टेढ़ी है। जन सेवा करने की कसमें ना खाई है। जब एक युवा सोच का युवा नेता अपनी जनता की जान बचाने की खातिर दिन रात जुटा है उसमें भी तेरी जलन जगजाहिर है। दलाली के नाम पर गाली सुनने की आदत है। कमीशन पाने की खातिर इज्जत नीलाम करने को भी उतारू है। शर्म लाज सब छोड़कर एंबुलेंस चोर की दलाली में दिन-रात ये जुटा है।

रोहिणी का गुस्सा तब जाकर शांत हुआ जब राजद के ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया गया। ट्वीट करने वाले ने लिखा, जाहिल, बेशर्म और नग्न सुशील मोदी को टैग कर अथवा उसके ट्वीट पर कोई रिप्लाई मत कीजिए। BJP से लात मार फेंके गए आदमी के 2M फ़ॉलोअर होने के बावजूद retweet तो छोड़िए 100 Like भी नहीं मिलते। इसलिए यह जानबूझ कर सड़ांध निकालने यहां आता है। पूरा बिहार जानता है यह नीतीश के कहने से ऐसे करता है।

इस पर रोहिणी ये कहती हुई शांत हुई कि  सही बोले आज तो मेरे नाम से भी ई सृजन चोरनी के मॉल वाला लुटेरा भाई को followers मिल गया। ये कब तक मेरे परिवार पे पलता रहेगा। साथ ही उन्होंने भोजपुरी में कहा, ई त ऐकर क़िस्मत आज अच्छा बाँटे नहीं तो हम उहां रहती त इनका आज अच्छे से इलाज कर देतीं। अंत में कहा, आज के बाद मेरी बहनों पे ई भगोड़ा बोला ना तो बताना मुझे, इसकी बकलोलि ना छुड़ा दिए तब देखना।

यह भी पढ़ें : लालू की बेटी को मांझी की बहू की धमकी, ठीक से रहा ना तो ठीक हो जईबू

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT