Header 300×250 Mobile

राजधानी की सड़कों पर जमकर हुआ बवाल

राजद के प्रदर्शन में 70 से ज्यादा लोग घायल

- Sponsored -

375

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। राजद समेत तमाम विपक्षी दलों के मंगलवार के विधानसभा घेराव कार्यक्रम के दौरान राजधानी की सड़कों पर जमकर बवाल हुआ। गांधी मैदान से नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में विधानसभा घेराव को निकले हजारों कार्यकताओं को पुलिस ने डाकबंगला चौराहे घेराबंदी कर रोकने की कोशिश की। इसी को लेकर प्रदर्शनकारी पुलिस के जवानों से भिड़ गये। बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस बल का विरोध और रोजगार की मांग को लेकर निकले प्रदर्शनकारी हर कीमत पर विधानसभा जाना चाहते थे। पर, प्रशासन उन्हें डाक बंगला चौराहा से ही लौट जाने को कह रहा था।

प्रदर्शन में घायल राजद विधायक सतीश दास।

पथराव में 70 से ज्यादा लोग हुए घायल

देखत-देखते दोनों पक्षों में इसी बात को लेकर धक्का-मुक्की शुरू हुई और फिर पथराव शुरू हो गया। पुलिस की ओर से पानी की बौछाड़ के साथ पथराव का जवाब भी पत्थरों से दिया जाने लगा। मामला बिगड़ता देख पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और उनके भाई तेजप्रताप यादव समेत राजद के कई बड़े नेताओं को बस मे बैठाकर कोतवाली थाने ले आये। थोड़ी देर बाद सभी को थाने से छोड़ दिया गया। पथराव में कुछ पुलिसकर्मियों समेत 70 से ज्यादा प्रदर्शनकारी घायल हो गये।

विज्ञापन

क्या बेराजगारी पर सवाल करना गुनाह है

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने पुलिस की कार्रवाई को तानाशाही बताते हुए कहा कि क्या बेरोजगारी पर सवाल करना गुनाह है? क्या युवाओं के हक़ की बात करना गैर कानूनी है? हम जनहित के मुद्दे पर सड़क पर प्रदर्शन करें लेकिन नीतीश सरकार का कोई वरिष्ठ अधिकारी बातचीत को आगे नहीं आता है। उल्टा पुलिस से पत्थरबाजी, लाठीचार्ज करवाया जाता है। यह तानाशाही नहीं तो क्या है? उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार लोहिया जयंती के दिन सड़क पर हमारे साथ नौकरी मांग कर रहे बेरोजगारों पर लाठीचार्ज और पत्थरबाज़ी करवाते हैं। और उसी दिन सदन में काला पुलिसया क़ानून लेकर आते हैं। हम इनकी गुंडागर्दी नहीं चलने देंगे।

तेजस्वी यादव को धक्का देकर सदन से बाहर करते सुरक्षाकर्मी। इस तस्वीर में एक सुरक्षाकर्मी मीडिया को तस्वीर लेने से रोकते हुए दिख रहा है।

इधर, विधानसभा में विपक्षी विधायकों को जबरन बाहर किये जाने के मामले में तेजस्वी ने कहा कि लोकलाज त्याग चुके नीतीश कुमार के आदेश पर हमारी क्रांतिकारी महिला विधायकों को ब्लाउज़ से पकड़ कर खींचा गया। उनकी साड़ी खुली, धक्का दिया गया, बता नहीं सकने वाली बदसलूकी की गयी लेकिन बीजेपी के चरणों में अपमान का आनंद ले रहे CM को शर्म नहीं आती। उन्होंने कहा नीतीश कुमार जैसी अनैतिक राजनीति करने वाला अलोकतांत्रिक मुख्यमंत्री पूरे देश में नहीं होगा।

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने कहा कि पूर्व मंत्री हमारी महिला विधायक अनिता देवी को नीतीश कैसे घसीटवा रहे है। इसी क्रम में साड़ी भी खुल जाती है। तुमने आज ये जो चिंगारियां भड़काई है कल यही तुम्हारे काले काल के काले सुशासन को जला कर भस्म कर देंगी। बिहार हिसाब करेगा और जल्द।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored