Header 300×250 Mobile

बिहार के सीआरपीएफ जवान ने जम्मू में की खुदकु्शी

छुट्‌टी नहीं मिलने पर खुद को मारी गोली

- Sponsored -

549

- Sponsored -

- sponsored -

छपरा (voice4bihar desk)। तरैया थाना क्षेत्र के  नंदनपुर गांव के सीआरपीएफ जवान ने जम्मू में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। मृत जवान चंद्रिका सिंह का 36 वर्षीय पुत्र राजीव रंजन सिंह उर्फ राजू सिंह जम्मू में रामबन जिला के बटोट में तैनात था। वह पांच भाइयों में सबसे छोटा था। वह सीआरपीएफ की 84वीं बटालियन का जवान था। उसके चार अन्य भाई आर्मी में हैं।

राजीव रंजन सिंह ने वर्ष 2009 में सीआरपीएफ की नौकरी ज्वाइन की थी। राजीव रंजन सिंह की शादी 2011 में रिंकी सिंह के साथ हुई थी। उसके दो पुत्र पांच वर्षीय आरो कुमार व तीन वर्षीय दिव्यांश कुमार हैं।

विज्ञापन

परिजनों ने बताया कि मृतक के चाचा चंद्रमा सिंह की 11 दिन पहले मृत्यु हो गयी थी। 21 अक्टूबर को श्राद्धकर्म होने वाला है। राजीव रंजन सिंह और उसके सभी भाइयों को इस श्राद्धकर्म में आना था। उसके चार भाई छुट्टी लेकर घर आ गये थे। परिजनों का कहना है कि राजीव रंजन सिंह ने भी छुट्टी की अर्जी दी पर उसकी छुट्टी मंजूर नहीं हुई थी जिसके कारण वह तनाव में था।

परिजनों को कहना है कि छुट्टी नहीं मिलने के कारण ही तनाव में आकर राजीप रंजन संह गोली मारकर आत्महत्या कर ली। हालांकि सीआरपीएफ की ओर से कहा गया है कि जवान राजीव रंजन सिंह ने परिवारिक कलह के कारण गोली मारकर आत्महत्या कर ली है।

इधर वारदात की सूचना मिलने के बाद परिजनों में मृतक के पिता चंद्रिका सिंह, माता लालझरी देवी ,पत्नी रिंकी सिंह ,पुत्र आरो व दिव्यांश सहित चारो भाई विनय सिंह, लखन सिंह, शत्रुघ्न सिंह व भरत सिंह का रो-रो कर बुरा हाल है। ग्रामीणों ने बताया कि राजीव रंजन सिंह मृदुभाषी व मिलनसार व्यक्ति थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT