Header 300×250 Mobile

बारिश का पानी बहाने को लेकर बहा खून, तीन मरे

समस्तीपुर के आधारपुर गांव की घटना, मृतकों में महिला भी शामिल

- Sponsored -

358

- sponsored -

- Sponsored -

समस्तीपुर (voice4bihar desk)। सोमवार की सुबह समस्तीपुर के लिए काफी मनहूस साबित हुई। बारिश का पानी बहाने को लेकर शुरू हुए विवाद में लोगों के खून बहे। जिला मुख्यालय से सटे मुफस्सिल थाना अंतर्गत आधारपुर गांव में हुए खूनी संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गयी, जबकि दो अन्य शख्स की हालत नाजुक बनी हुई है। मृतकों में एक महिला भी शामिल है।

जानकारी के अनुसार गांव के उप मुखिया हसनैन खान एवं पलरु राय के बीच बारिश का पानी बहाने को लेकर विवाद चल रहा था। इस बात को लेकर रविवार शाम को भी दोनों के बीच कहा-सुनी हुई थी। सोमवार तड़के इसी विवाद ने हिंसक रूप धारण कर लिया। बताया जाता है कि पलरु राय का 30 वर्षीय युवा पुत्र श्रवण कुमार बारिश से जमे पानी को निकालने के लिए सड़क काटकर कच्चा नाला बना रहा था। उप मुखिया हसनैन खान ने इसका विरोध किया। सोमवार सुबह लगभग छह बजे विवाद इतना ज्यादा बढ़ गया कि उप मुखिया हसनैन खान ने श्रवण कुमार पर गोली चला दी, जिससे मौके पर ही श्रवण की मौत हो गयी।

इसके बाद श्रवण के परिजन एवं अन्य ग्रामीण काफी आक्रोशित हो गए और आरोपी उप मुखिया हसनैन खान के घर पर धावा बोल दिया। ग्रामीणों के तेवर देख उप मुखिया तो अपनी जान बचाकर भाग निकला, लेकिन उसके परिवार के लोग आक्रोशित भीड़ के हत्थे चढ़ गया। आक्रोशित लोगों ने उपमुखिया की पत्नी, बेटा और बेटी समेत उन्हें बचाने आये आधा दर्जन लोगों को मारपीट कर बुरी तह घायल कर दिया। लोगों की पिटाई से बुरी तरह घायल पत्नी सनोवर खातून और भतीजे अनवर की मौत हो गई। मो. नूर आलम, मो. तमन्ने, मो. निजाम आदि घायल हो गये। घायलों में मो. तमन्ने की हालत नाजुक बनी हुई है। वह अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है।

विज्ञापन

हत्या की सूचना पर पुलिस ने नहीं की कार्रवाई तो लोग मचाने लगे उत्पात

बताते हैं कि मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस द्वारा उसे दबाने की कोशिश करने एवं घटनास्थल पर पुलिस के देर से पहुंचने के कारण ग्रामीणों का गुस्सा भडका और उन्होंने उप मुखिया के घर पर धावा बोल दिया। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी के घर पर जमकर उत्पात मचाया। पास खड़े कई वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया। लोग इतने आक्रोशित थे कि मीडियाकर्मियों को भी मौके पर नहीं जाने दे रहे थे। जिलाधिकारी शशांक शुभंकर, डीएसपी प्रीतीश कुमार, सदर एसडीओ रवीन्द्र कुमार दिवाकर एवं अन्य अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति को संभाला।

विवाद का रंग धार्मिक हुआ तो दरभंगा से आना पड़ा आईजी को

दरभंगा प्रक्षेत्र के आईजी अजिताभ कुमार भी आधारपुर पहुंचे एवं पुलिस अधिकारियों को हर हाल में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए आवश्यक निर्देश दिये। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कुछ शरारती तत्वों ने इसे कुछ अलग ही रंग देने की कोशिश की किन्तु जिला पुलिस और प्रशासन की चौकसी के चलते शरारती तत्वों की कोशिश नाकाम रही। पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों से एफआईआर दर्ज कराये जाने की बात कही है।

पुलिस का कहना है कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। घटना के मुख्य अभियुक्त उप मुखिया हसनैन खान समेत हत्या के सभी आरोपित फरार बताये जाते हैं। पुलिस ने दंगा भड़काने वाले कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। घटना के बाद गांव में दोनों पक्षों में तनाव कायम है। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored