Header 300×250 Mobile

तेजस्वी ने किया बिहार बंद का एलान

शुकवार को बिहार बंद करायेगा महागठबंधन

- Sponsored -

434

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने शुक्रवार को बिहार बंद का एलान किया है। तेजस्वी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है कि बिहार विधानसभा में मुख्यमंत्री द्वारा लोकतंत्र का चीरहरण, विधायकों की पिटाई, बेरोजगारी, महंगाई, किसान बिल के विरुद्ध कल, 26 मार्च को पूरे महागठबंधन ने बिहार बन्द का आह्वान किया है। सभी बिहारवासी इस बन्द में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें और इस अहंकारी सरकार के विरुद्ध आवाज़ बुलंद करें।

बिहार सशस्त्र विशेष पुलिस बल अधिनियम को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तनातनी लगातार बढ़ती जा रही है। इसी कड़ी में तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को बिहार बंद का आह्वान किया है। उन्होंने इा बंद को सफल बनाने का आह्वान बिहार के आम लोगों से भी किया है।

इसके पहले तेजस्वी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर रामधारी सिंह दिनकर की कविता के जरिये सत्ता के खिलाफ अपने संकल्प का इजहार किया है। उन्होंने लिया-

विज्ञापन

मत झुको अनय पर भले व्योम फट जाये

दो बार नहीं यमराज कण्ठ धरता है

मरता है जो एक ही बार मरता है

तुम स्वयं मृत्यु के मुख पर चरण धरो रे

जीना हो तो मरने से नहीं डरो रे!

वीरत्व छोड़ पर का मत चरण गहो रे

जो पड़े आन खुद ही सब आग सहो रे!

-राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जी

प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दिया मुख्यमंत्री की बातों का जवाब

तेजस्वी यादव ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि विधानसभा अध्यक्ष का घेराव पहली बार नहीं हुआ लेकिन पुलिस ने पहली बार बंदूक की नोंक पर पुलिस बिल पास कराया। उन्होंने बताया कि इसी सदन में 1977 में समाजवादी विधायक आसन पर बैठ गये थे। 1986 में कर्पूरी ठाकुर तीन दिनों तक सदन में धरना पर बैठे थे, रात में वहीं सोये थे। दोनों बार यहां कांग्रेस की सरकार थी तब तो सरकार ने बाहर से फोर्स नहीं बुलवाया गया था। तेजस्वी ने कहा कि 1986 में नीतीश कुमार भी इस सदन के सदस्य थे। उन्होंने सबकुछ अपनी आंखों से देखा था।

उन्होंने मुख्यमंत्री द्वारा मर्यादा की बात कहे जाने का भी तेजस्वी ने जवाब दिया। उन्होंने कहा कि उनके मंत्री अंगुली दिखाते हैं, अध्यक्ष से मंत्री किस तरह बात करते हैं यह उन्हें नहीं दिखता है। तब मर्यादा याद नहीं आती है। मुख्यमंत्री पूरे सत्र में विपक्षी सदस्यों को धमकाते रहे। बार-बार मुख्यमंत्री बोले कि देख लेंगे। तेजस्वी ने कहा कि वे भाजपा के नहीं हैं कि मुख्यमंत्री से डर जायेंगे। हम लोगों का संघर्ष जारी रहेगा।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में तेजस्वी ने पुलिस पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारियों को भी समझना होगा कि सरकार कब पलट जायेगी कोई नहीं जानता है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में पुलिस के गुंडे तो थे ही बर्खास्त पुलिसवाले भी विधायकों को पीट रहे थे। हमारे पास 200 ऐसे फुटेज हैं जिनमें वर्दी और बिना वर्दी वाले लोग विधायकों को पीटते हुए दिख रहे हैं। उन लोगों ने मीडिया वालों को भी नहीं छोड़ा और एक ही दिन में दो बार मीडिया पर हमला किया। इस मौके पर तेजस्वी ने मीडिया को भी नहीं बख्शा और बार-बार कहा हिम्मत है तो उनसे पूछिये।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored