Header 300×250 Mobile

जहरीली शराब का किंग पिन अरविंद यादव गिरफ्तार

नवादा में अपने गांव में अरविंद चलाता था शराब बनाने की फैक्ट्री

- Sponsored -

516

- Sponsored -

- sponsored -

नवादा (voice4bihar desk)। नवादा में 16 लोगों के जहरीली शराब से मौत के मुख्य गुनाहगार अरविंद यादव को मंगलवार की सुबह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उससे गहन पूछताछ की जा रही है। नवादा नगर थाना क्षेत्र में स्थित अरविंद के गांव खरीदी विघा से पुलिस ने शराब बनाने की फैक्ट्री पकड़ी है। फैक्ट्री में शराब बनाने के कई उपकरणों को भी पुलिस ने जब्त किया है। अरविंद लंबे समय से फरार था।

2020 में भी 5000 लीटर शराब बरामदगी का अरविंद मुक्ष्य गुनाहगार था। नवादा एसपी शायली धूरत ने अरविंद की गिरफ्तारी की पुष्टि की लेकिन पूछताछ में कई राज का पता चलने और उससे मामले को सुलझाने में मिलने वाली मदद के उद्देश्य से अभी कुछ विशेष नहीं बता रही है। एसपी का भी मानना है कि होली के अवसर पर जहरीली शराब का निर्माण अरविंद यादव के गांव खरीदीबीघा में ही हुआ था। वहीं से रेपर लगाकर शराब बेची जा रही थी।

यह भी पढ़ें : एसपी ने माना, जहरीली शराब से नवादा में गयीं 17 जानें

विज्ञापन

अरविंद यादव की देखरेख में ही शराब का धंधा खरीदीबीघा में चलाया जा रहा था। घटना के बाद से अरविंद फरार था। उसे भारी मशक्कत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके पूर्व पुलिस ने शराब बेचने वाले मंती देवी, अनिल चौधरी, पप्पू यादव और सूरज चौधरी को भी गिरफ्तार कर लिया था।

गिरफ्तार सभी लोगों ने भी पुलिस को बताया था कि वे लोग अरविंद यादव भी शराब फैक्ट्री लाकर शराब की आपूर्ति किया करते थे। गिरफ्तार लोगों ने यह भी बताया था कि अरविंद बड़े पैमाने पर कई जगहों पर शराब का कारोबार कर रहा था। पुलिस ने शराब से मरने के मामले में 10 प्राथमिकी दर्ज की है। अरविंद यादव की गिरफ्तारी पुलिस के लिए एक बड़ी सफलता है।

इसे भी देखें : शराब कारोबारियों की गुंडागर्दी से महिलाओं में फूटा आक्रोश

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored