Header 300×250 Mobile

छापेमारी करने गयी भोजपुर पुलिस टीम पर बालू माफिया का हमला

दो प्राथमिकी दर्ज, 22 गिरफ्तार, एसपी बोले- सख्त कार्रवाई होगी

- Sponsored -

528

- Sponsored -

- sponsored -

रोड़ेबाजी कर आधा दर्जन गाड़ियों को किया क्षतिग्रस्त, पुलिस के जवानों व चालकों ने भागकर बचाई जान

आरा (voice4bihar desk) । भोजपुर जिले के कोईलवर थाना क्षेत्र के विन्दगांवा के समीप रविवार की शाम छापेमारी करने गई पुलिस टीम पर अवैध बालू माफिया ने हमला बोल दिया। इस दौरान रोड़ेबाजी कर पुलिस की आधा दर्जन गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया। हमले के दौरान पुलिस के राइफलधारी जवानों एवं चालकों ने किसी तरह भागकर जान बचाई। हालांकि बाद में पुलिस ने मोर्चा संभाला और त्वरित कार्रवाई करते हुए हमले एवं अवैध बालू उत्खनन में शामिल 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। घटना को लेकर लोगों में अफरातफरी का आलम रहा।

विज्ञापन

बताया जाता है कि भोजपुर पुलिस की टीम बिन्दगांवा में सोन के दियारा में छापेमारी करने गई थी। पुलिस की टीम बिंदगांवा के समीप अपने वाहनों को खड़ा कर छापेमारी करने गई। सूत्रों के अनुसार इस दौरान पुलिस टीम ने घाट किनारे बालू उत्खनन में लगे नाव को जब्त कर लिया। इसमें से एक नाव को पुलिस खींचकर बीच सोन में ले गई और उसे पानी में डुबा दिया। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो रही है।

इसके बाद बालू माफिया ने पुलिस की खड़ी गाड़ियों पर हमला बोल दिया और जमकर रोड़ेबाजी की जिससे आधा दर्जन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। इस दौरान गाड़ियों में मौजूद ड्राइवर और राइफलधारी जवान ने किसी तरह भागकर जान बचाई। बाद में अतिरिक्त बल आने के बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला और करीब 22 लोगों को गिरफ्तार किया।

भोजपुर एसपी विनय तिवारी ने बताया कि अवैध खनन के खिलाफ छापेमारी अभियान चलाया गया था। इसमें सफलता भी मिली है। पुलिस का ध्यान भटकाने के लिये दूर खड़ी गाड़ियों पर रोड़ेबाजी की गयी है। इसमें कुछ गाड़ियों को क्षति हुई है। अवैध खनन और रोडे़बाजी में 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों मामलों में नामजद प्राथमिकी दर्ज की गयी है। छापेमारी के लिये तीन टीमें बनायी गयी थीं। दो टीम नदी में थी, जबकि एक टीम बाहर छापेमारी कर रही थी। अवैध धंधेबाजों और रोड़ेबाजी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored