Header 300×250 Mobile

खनन माफिया के खिलाफ मोर्चा खोलना जदयू जिला सचिव को पड़ा महंगा

खनन माफिया ने दी जान से मारने की धमकी, पुलिस एफआईआर तक दर्ज नहीं कर रही

- Sponsored -

604

- sponsored -

- Sponsored -

जोगबनी (voice4bihar desk)। परमान नदी के किनारे लगातार जारी अवैध खनन के खिलाफ जदयू के जिला सचिव नीतीश मेहता के अभियान छेड़ते ही खनन माफिया तथा इनके शागिर्दों के बीच भूचाल आ गया। इसका नतीजा यह हुआ कि खनन माफिया को संरक्षण देने वाले तथाकथित सफेदपोश और संबंधित अधिकारियों ने नीतीश मेहता के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया।  जदयू के जिला सचिव नीतीश मेहता ने बुधवार को बथनाहा ओपी में आवेदन देकर जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए क्षेत्र के अमर राय के विरुद्ध कई गंभीर आरोप लगाए  हैं। हालांकि आवेदन दिये दो दिन हो गये हैं पर अब तक एफआईआर दर्ज नहीं की गयी है।

श्री मेहता ने आवेदन में अमर राय पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने खनन माफिया के साथ अपने संबंध को स्वीकारा है व उनसे खनन करवाने के एवज में लेन देन की भी बात भी रिकॉर्डिंग में सामने आयी है । श्री मेहता ने बताया कि वह रिकॉर्डिंग में साफ-साफ कहते सुने जा रहे हैं कि मै तुम्हे किसी भी मामले में फंसा दूंगा।  इज्जत उतारना मेरे लिए बड़ी बात नहीं है। मैं जब चाहू जहां चाहूं वहां मरवा भी सकता हूं ।

नीतीश मेहता ने बथनाहा ओपी में दिए गए आवेदन में अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जताया है तथा पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की मांग के साथ दोषी व्यक्तियों पर जल्द से जल्द कानूनी करवाई करने की मांग की है। आवेदन की प्रतिलिपि अररिया के एसपी, डीएम और जदयू के प्रदेश अध्यक्ष को भी दी गयी है।

वहीं वायरल ऑडियो अगर सत्य है तो अमर राय तथा त्रिभुवन ठाकुर के बीच हो रही बातचीत से स्पष्ट है कि अवैध मिट्टी खनन के खेल में वरीय अधिकारियों तथा जिला पदाधिकारी कार्यालय के कर्मियों की मिली भगत है। ऑडियो में अमर राय द्वारा जिला पदाधिकारी के कार्यालय समेत कई अन्य जगहों से भी फोन आने की चर्चा की जा रही है । हालांकि  जदयू जिला सचिव नीतीश कुमार मेहता द्वारा उपलब्ध कराये गये इस ऑडियो रिकॉर्डिंग की सत्यता का पुष्टि voice4bihar.com नहीं करता है।

क्या कहते हैं अमर राय

विज्ञापन

मेरे द्वारा नीतीश कुमार मेहता को सीधे तौर पर कभी भी धमकी नहीं दी गयी है। उनके द्वारा मेरे ऊपर लगाये गये आरोप निराधार तथा बेबुनियाद हैं।

क्या कहते हैं बथनाहा ओपी अध्यक्ष

जद यू के जिला सचिव नीतीश कुमार मेहता से आवेदन प्राप्त हुआ है। उनके द्वारा अमर राय पर लगाये गये आरोप की जांच की जा रही है। जांचोपरांत करवाई की जाएगी ।

इस बीच, गुरुवार को मीरगंज सहित पोखरिया व दिपौल में अवेध खनन करने की सूचना पर अधिकारियों की टीम ने खनन स्थलों का जायजा लिया। इस दौरान अधिकारियों ने मीरगंज के कुछ ईंट भट्टों का भी मुआएना किया । निरीक्षण के दौरान फारबिसगंज एसडीओ सुरेन्द्र कुमार अलवेला  ने खनन स्थाल के आसपास रहने वाले ग्रामीणों से भी पूछताछ की। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि अगर कोई नदी किनारे अवैध खनन कर रहा हो तो इसकी जानकारी प्रशासन को दें उस पर विधि के अनुसार कार्रवाई की जाएगी ।

एसडीओ ने यह भी कहा कि नदी, धार या सरकारी भूमि से मिट्टी, बालू खनन करने की किसी को इजाजत नहीं है। अगर कोई अवैध खनन करते पकड़ा गया तो उसके विरुद्ध कड़ी कारवाई की जाएगी । मौके पर फारबिसगंज सीओ संजीव कुमार,  डीएसपी राम पुकार सिंह, जोगबनी थाना अध्यक्ष आफताब अहमद सहित अन्य पुलिस बल मौजूद रहे । बता दें कि इन इलाकों में अवैध खनन का खेल धड़ल्ले होता रहा है । लोगों ने इसकी सूचना अधिकारियों की दी थी इसके बाद अधिकारियों ने खनन स्थलों का जायजा लिया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored