Header 300×250 Mobile

अलग-अलग दिन होगी कक्षा I से V और VI से VIII की काउंसिलिंग

पांच और सात जुलाई को कक्षा VI से VIII जबकि छह, आठ और बारह जुलाई को कक्षा I से V तक की काउंसिलिंग होगी

- Sponsored -

932

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihardesk)। बिहार में 94000 प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए अगले सप्ताह होने वाली काउंसिलिंग की तस्वीर अब साफ हो गयी है। शिक्षा विभाग से मिली सूचना के मुताबिक अब कक्षा एक से पांच और छह से आठ तक के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग अलग-अलग दिन होगी। यानी पहले दिन कक्षा छह से आठ तक के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी जबकि अगले दिन कक्षा एक से पांच तक के छात्रों की काउंसिलिंग होगी। इस सिस्टम से काउंसिलिंग होने पर अधिकतम अभ्यर्थियों की नियुक्ति हो सकेगी।

शिक्षा विभाग से मिली सूचना के मुताबिक छठे चरण की पहली काउंसिलिंग 5, 7 और 12 जुलाई को होनी है। हालांकि अब इसमें थोड़ा परिवर्तन किया गया है। जानकारी के मुताबिक अब काउंसिलिंग 5, 6, 7, 8 और 12 जुलाई को होगी। इनमें 5 और 7 जुलाई को कक्षा छह से आठ जबकि शेष दिनों में कक्षा एक से पांच तक के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग होगी। इन तिथियों को काउंसिलिंग उन नियोजन इकाइयों में ही होनी है जहां दिव्यांगों का नया आवेदन नहीं आया है।

पटना हाईकोर्ट के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने दिव्यांग अभ्यर्थियों को 11 से 25 जून तक आवेदन करने का दुबारा मौका दिया था। हालांकि यह मौक उन्हीं दिव्यांगों को दिया गया था जिन्होंने पूर्व में आवेदन नहीं किया था।

दो नगर नियोजन, 23 नगर परिषद् और 49 नगर पंचायतों में होगी काउंसिलिंग

विज्ञापन

विभाग ने अपनी समीक्षा में पाया है कि दो नगर नियोजन इकाई, 23 नगर परिषद् नियोजन इकाई और 49 नगर पंचायत इकाई ऐसी हैं जहां दिव्यांगों ने 11 जून से 25 जून के बीच आवेदन नहीं किया है। इन सभी नगर नियोजन इकाइयों में पांच जुलाई को कक्षा छह से आठ और छह जुलाई को कक्षा एक से पांच के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग की जायेगी।

अगर हम प्रखंड नियोजन इकाइयों की बात करें तो राज्य में कुल 115 ऐसी इकाइयां हैं जहां दिव्यांगों ने इस बीच में आवेदन नहीं किया है। इन 115 प्रखंड नियोजन इकाइयों में सात जुलाई को कक्षा छह से आठ और आठ जुलाई को कक्षा एक से पांच के अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग की जायेगी। पंचायत नियोजन इकाइयों में काउंसिलिंग पूर्व निर्धारित 12 जुलाई को ही होगी। विभाग की सूचना के मुताबिक करीब 6175 ऐसी नियोजन इकाइयां हैं जहां दिव्यांगों को दोबारा आवेदन नहीं आया है और इन नियोजन इकाइयों में काउंसिलिंग 12 जुलाई को की जानी है।

काउंसिलिंग स्थल में कोई बदलाव नहीं किया गया है। पूर्व की भांति नगर और प्रखंड नियोजन इकाइयों की काउंसिलिंग जिला मुख्यालय जबकि पंचायत नियोजन इकाइयों की काउंसिलिंग प्रखंड मुख्यालय में आयोजित की जानी है। काउंसिलिंग सेंटर का निर्धारण सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी को करना है।

राज्य की शेष नियोजन इकाइयां ऐसी हैं जहां दिव्यागों ने दुबारा आवेदन किया है। इन नियोजन इकाइयों में मेधा सूची का निर्माण और प्रकाशन फिर से किया जाना है। इन नियोजन इकाइयों में 2, 4 और 9 अगस्त को काउंसिलिंग की जानी है। इन नियोजन इकाइयों को दो जुलाई तक औपबंधिक मेधा सूची की तैयारी एवं प्रकाशन करना है। तीन जुलाई से नौ जुलाई तक अभ्यर्थी मेधा सूची पर आपत्ति कर सकेंगे जिनका निराकरण 12 जुलाई तक कर लिया जाना है।

मेधा सूची का अंतिम प्रकाशन 15 जुलाई तक करने के बाद इसका अनुमोदन नियोजन इकाई द्वारा करा लेना है। इसके बाद नगर निकाय की काउंसिलिंग दो अगस्त, प्रखंड नियोजन इकाई की चार अगस्त और पंचायत नियोजन इकाई की काउंसिलिंग नौ अगस्त को होगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT