Header 300×250 Mobile

लाख रुपये में बेचते थे ऑक्सीजन सिलिंडर, छह धराये

अमेरिका से आयी शिकायत पर आर्थिक अपराध इकाई ने की कार्रवाई

- Sponsored -

417

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने ऑक्सीजन सिलिंडर की कालाबाजारी करने वाले छह धंघेबाजों को राजधानी पटना से गिरफ्तार किया है। इस मामले में पुलिस ने पहली गिरफ्तारी राजीवनगर से की। उससे पूछताछ के बाद उसके पांच और शागिर्द पकड़े गये। इस सिलसिले में राजीव नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक हर्ष राज नाम का युवक एक ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए लोगों से एक लाख दस हजार रुपए वसूल रहा था। हर्ष राज मूल रूप से मोतिहारी के टाउन थाना इलाके के शांतिपुरी गांव का रहने वाला है । पटना में वह इंद्रपुरी रोड नंबर 10 में रहता है।

विज्ञापन

बताया जाता है कि पांच दिन पूर्व अमेरिका में रहने वाले एक शख्स ने आर्थिक अपराध इकाई के एडीजी नैयर हसनैन खान को व्हाट्सएप मैसेज से यह सूचना दी कि इंद्रपुरी रोड नंबर 10 में रहने वाला युवक हर्ष राज ने उसके एक कोरोना पॉजिटिव संबंधी से एक ऑक्सीजन सिलेंडर के बदले में एक लाख दस हजार रुपये लिया है। पैसा उसके पटेल नगर स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के खाते में जमा किया गया है।

सूचना के बाद एडीजी नैयर हसनैन खान नने पूरे मामले की जांच के लिए इओयू के डीएसपी भास्कर रंजन और रजनीश कुमार के नेतृत्व में टीम का गठन कर मामले की तह तक पहुंचने के निर्देश दिए। गठित टीम ने एनआरआई द्वारा दिए गए पते और मोबाइल नंबर पर पड़ताल कर हर्ष राज को राजीव नगर थाना इलाके से धर दबोचा। तलाशी के दौरान उसके घर से एक भरा हुआ ऑक्सीजन सिलेंडर भी टीम ने जब्त किया। साथ ही उस ई रिक्शे को भी पुलिस ने बरामद कर लिया जिससे वह सिलेंडर की कालाबाजारी करता था। साथ ही पुलिस ने एक कार भी जब्त की है।

जब इओयू की टीम हर्ष राज के बैंक अकाउंट की जांच की तो पता चला कि पिछले 6 दिनों में उसके खाते में नौ लाख रुपए जमा हुए हैं। हर्ष राज की निशानदेही पर पुलिस ने छापेमारी कर राजीव नगर रोड नंबर 8 से गौरी शंकर कुमार, शास्त्री नगर थाने के गोकुल पथ पटेल नगर से रवि कुमार और शास्त्री नगर थाना इलाके से राहुल कुमार को गिरफ्तार कर लिया। इन लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस की टीम ने दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस जन जालसाजों के अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी कर रही है। पुलिस यह पता लगाने में जुटी है कि इस गोरखधंधे में और कौन-कौन लोग शामिल हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored