Header 300×250 Mobile

इतना असहाय, असमर्थ कभी अनुभव नहीं किया : तेजस्वी

महामारी के वर्तमान हालात को बयां कर रहा तेजस्वी का ट्वीट

- Sponsored -

520

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने मंगलवार को महामारी के दौर में अपनी लाचारी का इजहार ट्वीटर पर किया। उन्होंने लिखा कि इतना असहाय, असमर्थ कभी अनुभव नहीं किया। एक इंसान होने के नाते चाहकर भी गुहार लगा रहे, मदद मांग रहे, तड़प रहे सभी ज़रूरतमंदो की मदद नहीं कर पा रहा। अस्पतालों में फोन लगवाओ तो जवाब आता है-कुछ नहीं कर सकते सर! बेड नहीं है। इंजेक्शन नहीं है, ऑक्सीजन नहीं है। कैसे मदद करें?”

एक अन्य ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा हमने सर्वदलीय बैठक में सरकार को इस महामारी से निपटने के लिए 30 सकारात्मक सुझाव दिए थे पर एक पर भी अहंकारी सरकार ने अमल नहीं किया। नीतीश सरकार की आम लोगों की तकलीफ दूर करने की कोई मंशा ही नहीं है। सरकार बस विज्ञापन देकर और आंकड़ों को कम कर धूल झोंकने के फ़िराक में है।

विज्ञापन

दरअसल नेता प्रतिपक्ष के ट्वीट बिहार के वर्तमान हालात को बयां कर रहे हैं। मुख्यमंत्री, उनके मंत्री और अफसर भले सब कुछ ठीक होने का दावा कर रहे हैं पर असलियत यही है कि बीमार को जीने के लिए न तो अस्पताल में जगह मिल रही और न ही मरने पर श्मशान में।

बीमार को लेकर परिजन इस अस्पताल से उस अस्पताल भटकते हैं पर कहीं बेड नहीं मिल रही है। कहीं बेड है भी तो ऑक्सीजन नहीं है जिसके चलते मरीज बाहर ही तड़प-तड़प कर दम तोड़ दे रहे हैं। जिनकी पहुंच सत्ता के गलियारे तक है उन्हें भी इस महामारी ने लाचार कर दिया है। ऐसी ही परिस्थिति में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव का ट्वीट सामने आया है।

तेजस्वी ने आगे लिखा है कि नागरिकों के लिए एक तरफ बेपरवाह व भ्रष्ट सरकारी व्यवस्था का अंधा कुआं है तो दूसरी तरफ कालाबाज़ारी, मुनाफाखोरी और आंकड़ों की हेरा-फेरी। भ्रष्ट सरकार धृतराष्ट्र की तरह हाथ पर हाथ धरे बैठी है। लोगों को मरते छोड़ सरकार बस हेडलाइन व मौत के आंकड़ों को कम करने में लगी है। हमारी पार्टी और कार्यकर्ता लोगों की मदद कर रहे हैं लेकिन एक सीमा के बाद ऑक्सिजन नहीं मिल पाती, अस्पतालों में बेड नहीं मिल पाते। हम सीमित संसाधनों के साथ लोगों की मदद करने के लिए आगे बढ़ते हैं तो हाथ ऊपर कर चुकी सरकार और उसकी भ्रष्ट सरकारी व्यवस्था दीवार बनकर रास्ता रोक देती है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT